गर्भाशय में रसोली या फाइब्रॉइड के लक्षण

Garbhashay me rasoli | गर्भाशय में रसोली | Rasoli in Uterus
Uterus Fibroid Symptoms Image Source

फाइब्रॉइड या गर्भाशय की रसोली एक ऐसी समस्या है, जिसकी जानकारी ज्यादातर महिलाओं को बिना जाँच के हो ही नहीं पाती। यदि कुछ समस्याएं होती भी हैं, तो जानकारी के अभाव में महिला उन पर ध्यान नहीं दे पाती। पीरियड्स के दौरान दर्द होना सामान्य होता है। यह किसी को कम होता है तो किसी को ज़्यादा, ऐसे में यह दर्द फाइब्रॉइड के कारण ही है यह भी ज़रूरी नहीं होता। इन्हीं सब कारणों के चलते यह छोटी सी, महज कुछ दिनों में दवाओं से ठीक होने वाली समस्या बढ़ कर ऑपरेशन तक पहुँच जाती है।  जिन महिलाओं को जाँच में फाइब्रॉइड निकलता है, उनमें निम्न लक्षण देखे जाते हैं-

1- यदि लगतार कुछ महीनों से पीरियड्स के दौरान ज़्यादा रक्तस्त्राव हो रहा हो।

2- यदि पीरियड्स अनियमित हो गए हों। समय से पहले या समय गुजरने के बाद आते हों।

3- पीरियड्स के दौरान दर्द असहनीय होता हो।

4- यदि दो पीरियड्स के बीच भी रक्त स्त्राव होने लगा हो।

5- पेडू में दबाव सा महसूस होता हो।

6- बार-बार बाथरूम जाना पड़ता हो।

7- कमर के निचले हिस्से में दर्द रहने लगा हो।

8- अंत-रंग संबंधों के दौरान दर्द होता हो।

यदि इन समस्याओं के लिए महिला, डॉक्टर के पास जाती है तो सबसे पहले डॉक्टर एक्स-रे के द्वारा यूट्रस की जाँच करते हैं और यदि जाँच में कुछ ऐसा लगता है जिससे फाइब्रॉइड होने के संकेत मिलते हैं, तो डॉक्टर आगे की जाँच अन्य तरीकों जैसे ट्रांसवैजिनल अल्ट्रासाउंड (Transvaginal ultrasound) के द्वारा समस्या की जाँच करते हैं।

(Visited 549 times, 1 visits today)