गलतियां जो दे सकती हैं गर्भाशय (Uterus) फाइब्रॉइड को जन्म

गलतियां जो दे सकती हैं गर्भाशय (Uterus) फाइब्रॉइड को जन्म या यूट्रस में फाइब्रॉइड होने का कोई एक कारण नहीं होता। बहुत से ऐसे कारण हो सकते हैं, जो मिलकर यूट्रस में ट्यूमर को जन्म दे सकते हैं। ऐसा माना जाता है कि फाइब्रॉइड की आशंका बढ़ती उम्र और रजोनिवृत्ति या मेनपॉज़ (Menopause) यानी पीरियड्स बंद होने की उम्र के आस-पास की महिलाओं में ज़्यादा होती है; लेकिन आजकल फाइब्रॉइड की समस्या 30 से भी कम उम्र की महिलाओं को हो रही है।

Garbhashy me ganth ke karan | गर्भाशय में गाँठ के कारण | Causes of Tumor in Uterus
Causes of Tumor in Uterus Image Source

यूट्रस में फाइब्रॉइड के कारण

यूट्रस या गर्भाशय में फाइब्रॉइड तब पनपता है, जब उसकी दीवारों की कोशिकाओं में किसी प्रकार की कोई ख़राबी आ जाती है। ऐसा तब होता है, जब शरीर में हार्मोन (एस्ट्रोजन) का स्तर अत्यधिक बढ़ जाता है। शरीर में एस्ट्रोजन बढ़ने के पीछे बहुत से कारण हो सकते हैं।

किन महिलाओं में होता है फाइब्रॉइड होने का ज़्यादा ख़तरा?

1- दरअसल गर्भाशय में फाइब्रॉइड के पीछे शरीर में एस्ट्रोजन हार्मोन का बढ़ना माना जाता है। यह वह हार्मोन होता है, जो प्रेग्नेंसी के बाद बढ़ता है। मेनपॉज वाली महिलाओं में इसका खतरा इसीलिए ज़्यादा होता है क्योंकि उस वक्त उनके शरीर में एस्ट्रोजन का स्तर बढ़ा होता है।

2- गर्भाशय में ट्यूमर या फाइब्रॉइड का ख़तरा उन महिलाओं में भी ज़्यादा होता है जो मोटी हैं और जिनका वजन उनके सही वजन से कहीं अधिक है।

3- जिन महिलाओं की माँ या बहन को गर्भाशय में फाइब्रॉइड की समस्या रही हो, उनमें भी इसके होने की आशंका होती है।

4- मांशाहारी महिलाओं में, शाकाहारी महिलाओं के मुकालबे फाइब्रॉइड होने की आशंका ज़्यादा होती है।  

4- इसके अलावा, धूम्रपान और शराब का सेवन करने वाली महिलाओं में भी फाइब्रॉइड होने की आशंका ज़्यादा होती है।

5- गर्भ निरोधक दवाओं का अत्यधिक प्रयोग भी इस तरह की समस्या को जन्म दे सकता है।

(Visited 213 times, 1 visits today)